पन्ना

पन्ना टाइगर रिज़र्व में पर्यटकों से हो रही वसूली

पन्ना टाइगर रिज़र्व में पर्यटकों से हो रही वसूली

प्रबंधन द्वारा एनटीसीए की गाइड लाइन का नहीं कराया जा रहा पालन : राजेश दीक्षित

पन्ना {sarokaar news} पन्ना टाइगर रिजर्व में पर्यटकों को लाने ले जाने के लिए लगाए गए वाहनों से वाहन संचालकों द्वारा हो रही मनमानी वसूली। पर्यटकों से अवैध वसूली का यह पहला मामला नहीं है इसके पूर्व भी वाहन चालकों पर पार्क द्वारा निर्धारित शुल्क से अधिक पैसा पर्यटकों से वसूलने की खबरें आतीं रहीं हैं। कहा जाता है कि पर्यटकों से अधिक पैसा वसूलने वाले वाहन चालकों को सम्बंधित रेंज अफसर से अभयदान मिला होता है।

हाल में ताजा मामला दिनांक 24/12/2019 को लोक निर्माण विभाग खजुराहो/लवकुशनगर के एसडीओ आशीष भारती ने मड़ला रेंज ऑफिसर को पत्र लिखकर जिप्सी क्रमांक एमपी16t 1434 के ड्राइवर द्वारा पार्क द्वारा निर्धारित पैकेज 3830 के बदले 5500 रूपए वसूल किये गये। अन्य वाहन चालकों से जब एसडीओ आशीष भारती ने पूछा तो पता चला कि उनसे निर्धारित शुल्क से अधिक की वसूली गई है, तदपश्चात उन्होंने मड़ला रेंज ऑफिसर को पत्र लिखकर उनके साथ वाहन चालाक द्वारा की गई अधिक वसूली पर कार्रवाई करने की मांग की है।

लोक निर्माण विभाग के एसडीओ द्वारा दिया गया शिकायती पत्र

बताते चलें कि पार्क अभी बाघ पुनर्वास का दसवां जश्न मना रहा है तो दूसरी ओर पर्यटकों के साथ अवैध वसूली के मामले सामने आ रहे हैं। इस सम्बन्ध में पन्ना टाइगर रिज़र्व की लोकल एडवाइजरी कमेटी के सदस्य तथा एनटीसीए प्रतिनिधि राजेश दीक्षित ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए पार्क प्रबंधन को आड़े हाथ लेते हए पार्क प्रबंधन पर कई सवाल खड़े किये हैं।

उन्होंने पर्यटकों को ठगे जाने पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा है कि पार्क से जुड़े लोग अगर ऐसा कर रहे हैं तो यह पार्क के लिए अच्छी खबर नहीं है,बहुत कड़ी मेहनत से पार्क को दोबारा बाघों से गुलजार किया गया है। जिप्सी मालिक एनटीसीए की गाइड लाइन का पालन नहीं कर रहे हैं तथा पर्यटकों को बाघ के पास तक गाडी लेकर जाते हैं इससे टाइगर का बर्ताव बदल रहा है और बाघों में इंसानी डर ख़त्म हो रहा है। इससे बाघ और मानव की मुठभेड़ संभावी है। पार्क प्रबंधन को एनटीसीए की गाइड लाइन का पालन कड़ाई से करना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है जो चिंता का विषय है।

क्षेत्र संचालक केएस भदौरिया – पार्क द्वारा निर्धारित शुल्क से अधिक की वसूली गंभीर विषय है, इसकी जांच कराई जायेगी और दोषियों पर कार्रवाई होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close