भाजपा को अपने पुराने नारे ‘जिसके बच्चे हों दस बीस – उसकी मदद करें जगदीस’ के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए- शाहनवाज़ आलम

0
109
शाहनवाज़ आलम चेयरमैन अल्पसंख्यक उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी

जनसंख्या नीति पर योगी आदित्यनाथ, साध्वी निरंजन ज्योति, स्वामी चिन्मयानंद, उमा भारती को अपना स्टैंड साफ करना चाहिए

{Sarokaar News} – लखनऊ, अल्पसंख्यक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज़ आलम ने भाजपा सांसद रवि किशन द्वारा जनसंख्या नियंत्रण क़ानून का प्रस्ताव लाने को हास्यास्पद बताते हुए कहा कि संघ और भाजपा के पास जनसंख्या पर कोई एक नीति नहीं है। उसके ज़्यादातर नेता इस मुद्दे पर सिर्फ़ लोगों का मनोरंजन करते हैं।

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण क़ानून लाने से पहले भाजपा नेताओं को जनसंघ के दौर के अपने नारे ‘जिनके बच्चे हों दस बीस उसकी मदद करें जगदीस’ के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए। एक ज़माने में जनसंघ के नेता गली-गली घूम कर यही नारा लगाते थे। अब इसके ठीक उल्टा भाजपा जनसंख्या नियंत्रण के लिए क़ानून लाने की बात कर रही है। उन्होंने कहा कि आख़िर कोई पार्टी किसी नीतिगत मुद्दे पर इस तरह यू टर्न कैसे ले सकती है।

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि योगी, साध्वी ऋतंभरा, उमा भारती, साध्वी ज्योति निरंजन, स्वामी चिन्मयानन्द जैसे भाजपा नेता हिंदुओं से ज़्यादा बच्चे पैदा करने का आह्वान करते रहते हैं। ऐसे में अगर भाजपा यह क़ानून बनाती है तो इन नेताओं से पहले उसे माफ़ी मंगवानी चाहिए।